[New] Hindi Essay on Mahatma Gandhi | महात्मा गाँधी जी पर हिंदी निबंध

महात्मा गाँधीजी जो की हमारे राष्ट्रपिता हे उनपर आज हम हिंदी निबंध प्रस्तुत कर रहे हे , यह हिंदी निबंध सभी class के छात्र को उपयोग आ सकता हे. तो नमस्चकार दोस्तों चलिए महात्मा गाँधीजी पर हिंदी निबंध को शुरू करते हे.

Hd image of mahatma gandhi ji for gandhi jaynti free download

महात्मा गाँधी

महात्मा गाँधी जी का जन्म २ अक्टूबर १८६९ में गुजरात के सोराष्ट्र प्रदेश के पोरबंदर नगर में हुआ था. महात्मा गाँधी जी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गाँधी हे. महात्मा गांधीजीने अपनी प्रारंभिक पढाई राजकोट और पोरबंदर में की थी. महात्मा गांधीजी पर अपनी माँ के धार्मिक विचारो का बड़ा प्रभाव था. गांधीजी की शादी मात्र तेरा साल की उमर में हो गयी थी.

गाँधी जी बेरिस्टर थे, उन्होंने वेरिस्टारी की पढाई लंदन से की थी. गाँधी जी अपनी पढाई करके भारत लोट आये, वे सन १८९१ को भारत लोट आये थे और राजकोट में उन्होंने अपनी वकालत शुरू कर दी थी . गांधीजी जब वकालत कर रहे थे तब उन्होंने भारत के लोगो को बड़े दुर्बल स्थिति में पाया और इसी के चलते गाँधी जी ने अपने आप को भारत को स्वातंत्र करने के कार्य में पूरी तरीके से समर्पित कर दिया.

गाँधी जी में नेतृत्व की बड़ी अद्भुत क्षमता थी जिसके चलते उन्होंने भारत के लोगो को साथ ले कर अंग्रेजो के हिंसा पर अहिंसा से जित पाली. और इन्ही अहिंसा से आंदोलन करके गाँधी जी ने भारत को आजादी दिलवाई और इसी के चलते गाँधी जी "युगपुरुष" कहलाए गए.

महात्मा गाँधी एक सच्चे समाजसेवक थे, और इनकी समाजसेवा के कारन ही लोगो ने उन्हें एक बड़ा नेता बना दिया था. गाँधी जी देश के हर एक परिवार को सुखी देखना कहते थे और इसलिए वो काफी परिश्रम करते थे, महात्मा गाँधी को भारत के हर परिवार की चिंता रहती थे इसीलिए गाँधी जी को "राष्ट्रपिता" और "बापू" भी कहा जाता हे.

हमरे राष्ट्रपिता यानि की महात्मा गाँधी जी काफी दयालु इन्सान थे, उन्होंने जब भारत में गरीबी देखि तो उन्होंने अपना सूट-बूट त्याग दिया और फिर वो सिर्फ धोती पर साधारण जीवन जीने लगे. गाँधी जी ने गाव-गाव जाकर स्त्री सिक्षा, शराब बंधी, निरक्षता निवारण करना शुरू कर दिया. उन्होंनेही स्वदेशी को बढ़ावा दिया और इसी के चलते उन्होंने चरखे के द्वारा लोगो को रोजगार दिलवाया.

महात्मा गाँधी जी ने अपना सारा जीवन भारत कोआजादी दिलाने केलिए त्याग दिया. अहिंसा, सत्याग्रह और सत्य बापू के हतियार थे, इन्हिका इस्तमाल करके उन्होंने भारत को आजादी दिलवाई. गाँधी जी के इन्ही माहान कार्य के कारन उन्हे महात्मा की उपाधि दी गयी हे. आज भी पुरे विश्व में गाँधी जी को इज्जत दि जाती हे और उनका सम्मान किया जाता हे. भारत में हर साल २ अक्टूबर को गाँधी जयंती बनाई जाती हे. महात्मा गाँधी सच में एक महान इन्सान और एक सच्चे देश भक्त थे उन्हें लोग कभी नहीं भूल पाएंगे.

जय हिंदी जय भारत !




यह महतम गाँधी पर हिंदी निबंध कोण और कहा इस्तमाल कर सकता हे ?

  • यह निबंध का उपयोग सभी class के छात्र कर सगते हे (१ से १२).
  • यह हिंदी निबंध और महात्मा गाँधी के विषय में भी उपोग में लाया जा सकता हे जैसे की.
  1. महात्मा गाँधी जी मेरे प्रिय नेता.
  2. मोहनदास करमचंद गाँधी पर निबंध.
  3. हमरे राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी.
  4. बापू पर हिंदी निबंध .
  5. मेरा प्रिय नेता महात्मा गाँधी जी.
  6. गाँधी जयंती पर हिंदी निबंध.

तो दोस्तों महात्मा गाँधी जी पर यह निबंध कैसा लगा? हमें निचे comment करके जरुर बताना . और अगर पाको कोई और विषय पर हिंदी निबंध चाचिए तो हम्मे comment करके बताइए. धन्यवाद्.🙏

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ