My School essay in Hindi | मेरी पाठशाला निबंध हिंदी में।

नमस्कार दोस्तों हर व्यक्ति के जीवन में पाठशाला का एक अलग ही स्थान होता है इसीलिए तो हमारे जीवन में हम पाठशाला की कितनी सारी मजेदार यादो के साथ जीते है। और मजे की बात यह है की पाठशाला में मेरी पाठशाला पर एक हिंदी निबंध हमेशा होता है। आज Hindi Essays मेरी पाठशाला इस विषय पर हिंदी निबंध लेकर आया है।

This iamge is of school and is been used for hindi essay on my school

मेरी पाठशाला। (My School).

मेरी पाठशाला का नाम "सरस्वती विद्यालय" है। मेरी पाठशाला कोल्हापुर में स्थित है और यह पाठशाला बहुत बड़ी है। मेरी पाठशाला की इमारत तीन मंजिली है और उसमें पहली से लेकर 10वीं तक हर कक्षा के लिए 4 वर्क है। उसी के साथ एक बड़ा सभागृह है, वाचनालय है और लेबोरेटरी है उसी के साथ बच्चों को खेलने के लिए एक बड़ा सा मैदान है और पाठशाला की इस मैदान में एक छोटी सी बाग है जिसमें अलग-अलग प्रकार के पौधे लगाए गए है ऐसी हमारी बड़ी पाठशाला है।

हमारे पाठशाला का एक ही गणवेश है और पाठशाला के सभी विद्यार्थी वही गणवेश पहनते है। हमारे विद्यालय के सहारे शिक्षक काफी अच्छे है और वह हमें हमारे हर कार्य में मदद करते है और पाठशाला की पढ़ाई पूरी तरीके से पाठशाला में ही करवा लेते है।

पाठशाला की दूसरी मंजिल पर एक बड़ा वाचनालय है जहां पर बहुत ज्यादा शांति होती है वाचनालय में सभी प्रकार के पुस्तकें बच्चों के लिए उपलब्ध है। वाचनालय में बहुत सारी पुस्तक है जिसमें से मुझे कहानियों के पुस्तक काफी पसंद है। वाचनालय से थोडी दूर एक बड़ी लेबोरेटरी है जहां पर हमें अलग-अलग प्रयोग दिखाए जाते है मुझे यह प्रयोग सीखने में काफी अच्छा लगता है।

हर साल जब भी 10वीं का निकाल लगता है तभी हमारे पाठशाला का नाम हमेशा सबसे ऊपर रहता है। हमारे पाठशाला के विद्यार्थी सिर्फ पढ़ाई में ही अच्छे नहीं है तो खेलकूद में भी वह सबसे आगे है। हमारी क्रिकेट टीम इसी साल नेशनल लेवल क्रिकेट कंपटीशन खेल कर आइ है और यह बात पर हमें बहुत ज्यादा गर्व है।

ऐसी हमारी पाठशाला है। मुझे मेरी पाठशाला का बहुत ज्यादा अभिमान है। छुट्टी होने पर भी मुझे मेरी पाठशाला में जाने का मन होता है ऐसी मेरी पाठशाला मुझे बहुत प्रिय है।

समाप्त।

तो दोस्तों आपकी पाठशाला कैसे है और उसका नाम क्या है हमें नीचे comment करके जरूर बताएं।

मेरी पाठशाला पर यह हिंदी निबंध class १,२,३,४,५,६,७,८,९ और १० के विद्यार्थी अपनी पढ़ाई के लिए इस्तमाल कर सकते है। उसी के साथ यह निबंध नीचे दिए गए विषयों पर भी इस्तमाल किया जा सकता है।

  • मेरा विद्यालय।
  • पाठशाला।
  • अधर्ष विद्यालय
  • मेरी स्कुल

तो दोस्तों आपको यह हिंदी निबंध कैसा लगा उसी के साथ अगर आपको कोई और विषय पर हिंदी निबंध चाहिए तो हमें नीचे comment करके जरूर बताएं।

धन्यवाद।

एक टिप्पणी भेजें

18 टिप्पणियाँ

  1. P.dr.Vitthalrao eknathrao likhe patil vidyalaya babhaleshawar tal.rahata. dist .Ahmednagar. state . Maharastra

    जवाब देंहटाएं
  2. शारदा विद्या मंदिर,राहाता तालुका राहाता जिल्हा अहमदनगर

    जवाब देंहटाएं